मालिश करने वाली लडकी की चुदाई


hindi sex story, kamukta हेल्लो दोस्तो | आज मैं अपनी मामी की बहन के विषय में आपको कुछ सुनाने के लिए जा रहा हूँ | आज अगर आप मेरे उस दिन के किस्से के विषय में जानोगे तब आपको मालूम चल जायेगे की मैंने अपनी मामी को कैसे चोदा | जब मैं अपनी मामी को चोद रहा था तब उस दिन मेरे मामा कुछ महीने के लिए मेरे पापा के घर पर गए हुए थे | मेरे पापा ने मुझ से कहा की तुम्हे कुछ दिन के लिए तुम्हारे मामा के घर पर जाना पड़ेगा | मेरी नानी को तबियत की वजय से उनके अस्पताल ले कर जाना पड़ता था | मेरे मामा किसी वजय से मेरे पापा के घर आये हुए थे | मेरे मामा नौकरी की वजय से मेरे पापा के घर पर मेरे साथ रहा करते थे | मुझे अपनी नानी की देखभाल करना था और उनको आस्पताल ले कर जाना था इसलिए मैं अपने मामा के घर पर गया हुआ था | मुझे रोजाना अपनी नानी की देखभाल करना पड़ता था | अपनी नानी की देखभाल करने के दौरान मुझे उनके कपडे और बिस्तर को धोना पड़ता था | एक दिन मेरी मामी उनके कमरे पर लेटी हुई थी तब मुझ को बुलाया और मैं उनके कमरे के अन्दर गया | फिर मेरी मामी मुझ को सलाह देने लगी |

जब वो मुझे सलाह दे रही थी तब मैं उनके दूद को देख रहा था | वो बिस्तर पर लेटी हुई थी और मैं उनके दूद को सिर्फ देख रहा था | कुछ समय के बाद मेरी मामी ने मुझ से कहा की उनका पैर दर्द कर रहा है | फिर मैंने उनके पैर को दबाना शुरु किया | मेरी मामी ने मुझ से जब कहा पैर दर्द हो रहा है तब मैं उनके पैर दबा रहा था | फिर मैंने वो किया जो मुझे उस दिन करने का मौका मिला था | मैं अपनी मामी के दूद को दबाने लगा जब वो लेटी हुई थी | कुछ समय तक मैं अपनी मामी के दूद को दबाता रहा फिर मैं उनकी साडी को खोला और उस समय घर पर मेरी नानी थी जो की किसी अन्य कमरे में थी इसलिए मैं अपनी मामी के चूत को चाटने लगा | लेकिन उस समय मेरा एक मित्र घर के बाहर आ गया था इसलिए मैंने अपनी मामी से कहा की मैं किसी अन्य दिन आपके दूद के दबा सकता हूँ और आपके चूत को अपनी जीब से चाट सकता हूँ | मेरे मामी ने उस दिन मुझ से कहा की हा |

जब तुम्हारे पास फुर्सत का समय रहेगा तब तुम मेरे कमरे पर आना और मेरे दूद को दबाना | फिर मैं अपने मित्र से मिलने के लिए घर के बाहर चला गया | मेरे मामा ने मुझे जिम्मेदारी दिया हुआ था की तुम मेरे घर जाओ और तुमहारी मामी और नानी की देखभाल किया करो | मेरे मामा नानी की दवाई का खर्चा मेरी मामी को भेजा करते थे | जब मुझे आस्पताल जाना पड़ता था तो मैं अपनी मामी से खर्चा लिया करता था | एक दिन मैं अपनी मामी के साथ उनके कमरे पर थे | मेरी मामी मुझ से लड़की देखने के लिए कहा करती थी | क्योकि मैं बड़ा हो चूका था और मुझे अब शादी के लिए लड़की देखना पड़ता था | मेरी मामी मुझ को सलाह दिया करती थी की तुम शादी करने के बाद लड़की को सम्भाल कर रखना | मेरी मामी सलाह देने के दौरान मुझ से कहती थी की तुम तुमारी पत्नी के खर्च उठाने के लिए कही पर जॉब करना शुरु कर दो | मैं अपनी मामी के सलाह के अनुसार अपना जीवन जिया करता था | मेरी मामी मुझे से कहा करती थी की तुम अब बड़े हो चुके इसलिए अब तुम किसी लड़की से शादी कर लो | करीब एक साल तक मैं अपने मामा के घर पर रुका हुआ था | मेरे मामा उस समय पर मेरे पापा के घर पर थे इसलिए मेरे पास एक मौका था की मैं अपनी मामी के चोद सकू | जब मेरी मामी घर पर नही रहती थी तब मैं अपनी मामी और नानी के लिए भोजन बनाया करता था | भोजन बनाने के बाद मैं अपनी नानी को भोजन परोसा करता था | मेरी मामी ने मुझे एक दिन कहा की तुम मेरे साथ मेरी एक सहेली के घर पर चलो |

Loading...

मैं उस दिन गाडी चला रहा था | मैं गाडी चला रहा था और मेरी मामी मेरे पीछे बैठी हुई थी | गाडी चलाते समय मैं ब्रेक लगा रहा था ताकि मेरी मामी मुझ को गले लगाये | जब मैं गाडी चला रहा था तब ऐसा हुआ जिसकी मुझे सम्भावना थी | जब मैं ब्रेक लगाया करता था तब उनके दूद मेरी पिट से छुल रहे थे | मैं जब उनकी सहेली के घर पर पहुच गया तब मैंने अपनी गाडी को रोका | मेरी मामी की सहेली ने मेरा स्वागत किया | घर के अन्दर घुसने के बाद मेरी मामी की सहेली ने मुझे सोफे पर बैठाया और फिर उनकी सहेली ने चाय और पोहा खाने के लिए दिया | उनका दिया हुआ पोहा फिर मैंने खाया | मेरी मामी की सहेली की एक बेटी थी | जिस दिन मैं उनकी सहेली से मिलने के लिए गया हुआ था तब मैंने पाया की उस लड़की से मेरी मामी ने कहा की क्या तुम मुझ से शादी करने के लिए तयार हो | तब वो लड़की शर्मा गयी | फिर मेरी मामी ने मुझ से कहा की उनकी सहेली की बेटी भी बड़ी हो चुकी है | इसलिए तब मैं अपनी मामी से कहा की मैं उस लड़की से शादी करने के लिए तयार हूँ | उस दिन के बाद मैं उस लड़की के घर पर आसानी से आता जाता था | एक दिन जब मैं उस लड़की के घर पर गया था | वो लड़की घर पर अकेली थी | उस लड़की ने मुझ से कहा की घर पर मम्मी नही है | तब कुछ समय तक उस लड़की के घर पर मैं बैठा हुआ था | उस लड़की ने मुझ से कहा की उसको कही पर जाना है इसलिए तुम मुझे छोड़ देना | उस लड़की के पास स्कूटी थी लेकिन उस दिन उसकी मा ने स्कूटी ले कर कही पर गयी हुई थी | इसलिए मैंने उस लड़की को जहा पर जाना था अपनी मोटरसाइकिल से मैंने उस लड़की को वहा पर छोड़ दिया |

उस लड़की को अपनी मोटरसाइकिल से छोड़ने पर उसकी मा को कोई ऐतराज नही था इसलिए मैं उस लड़की को कही पर भी आसानी से छोड़ सकता था क्योकि मेरी उस लड़की से शादी होने वाली थी | मुझे किसी वजह से उस लड़की के घर पर जाना पड़ा जब मैं उस लड़की के घर पर था तब वो लड़की ने एक नया कपडा पहना हुआ था | मैं उस लड़की के कपडे की तारीफ कर रहा था | उस लड़की के कपडे की तारीफ करने के दौरान मैंने उस लड़की के दूद को दबाना शुरु कर दिया | उस लड़की ने भी मुझे उसके दूद दबाने का मौका दिया | जब मैं उस लड़की के दूद को दबा रहा था तब उसकी मा घर पर नही थी | फिर मैंने उसके कपडे उतार दिया और उसको नंगा कर दिया | नंगा करने के बाद फिर मैंने उसकी चूत के अन्दर मैंने अपना लंड डाल दिया | कुछ समय तक मैं उसकी चूत के अन्दर अपना लंड डालकर हिला रहा था | ऐसा करने पर कुछ समय के बाद मेरे लंड से वीर्य बहने लगा | फिर मैंने अपना वीर्य उसके बदन पर गिरा दिया | जब उसके बदन पर वीर्य गिर गया तो मैंने उस लड़की को अपना लंड चूसने के लिए दिया | कुछ समय तक वो लड़की मेरा लंड चुस्ती रही | कुछ समय के बाद उस लड़की से मैंने कहा की मुझे कही पर जाना है इसलिए जब मेरे पास फुर्सत का समय रहेगा तब मैं उसकी चुदाई करूँगा | फिर मैं उस लड़की के घर से चला गया | मेरे लिए कुछ साल पहेले का समय बिलकुल शानदार था |

मैं उस लड़की को अब अपने घर पर भी लाया करता था लेकिन वो लड़की उसकी स्कूटी से मेरे घर पर आया करती थी और मैं अपनी मोटरसाइकिल चलाया करता था | वो लड़की एक कामकाजी लड़की थी इसलिए जब वो लड़की मेरे घर पर आती थी | वो लड़की मेरी नानी की देखभाल में लग जाती थी | कुछ महीने के बाद मेरे मामा घर पर लौटकर आ गए | जब वो घर पर लौटकर आ गए तब मैं अपनी मामी के दूद नही दबा सकता था इसलिए मैं उस लड़की के घर पर चला जाता था | मेरी उस लड़की से शादी होने वाली थी इसलिए मेरी मामी ने मुझे सलाह दिया की तुम कही पर जॉब कर लो | उनकी सलाह पर एक जगह पर जॉब करने लगा | जब मैं जॉब करने लगा तो मेरे लिए भोजन उस लड़की के घर से आया करता था | वो लड़की मेरे लिए भोजन तयार कर देती थी और मैं भोजन उसके घर से लेकर चला जाता था और जब लंच होता था तब मैं उस लड़की का बनाया हुआ भोजन खाया करता था | एक दिन जब मैं जॉब पर जा रहा था तब उस लड़की के घर पर गया हुआ था | उस लड़की के घर पर जब मैं पहुचा तो मैंने देखा की वो लड़की कपडे बदल रही है | उस समय उस लड़की की मा भी घर पर थी | उस लड़की ने पहेले उसका सलवार उतारा और फिर मैं उस लड़की के दूद को देखने लगा | फिर कुछ समय के बाद उस लड़की ने उसका पजामा उतारा और जब उस लड़की ने उसका पजामा उतारा तब मैं उस लड़की के कमरे पर चला गया | फिर मैंने उस लड़की के दूद को दबाना शुरु कर दिया | उस लड़की ने उस समय ब्रा और चड्डी पहनी हुई थी इसलिए मुझे उस लड़की के कपडे उतरने पर समय नही लगा | उस लड़की को चोदने से पहेले मैंने उस लड़की की ब्रा को खोला और फिर उस लड़की की चड्डी को उतार दिया | कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की की चुतड पर लंड को घुसेड दिया | लंड जब उसकी चुतड के अन्दर घुसेड रहा था तब मेरे लंड से वीर्य भी निकल रहा था | जब मेरे लंड से वीर्य निकल रहा था तब मेरा लंड और उसकी चूत चिप चिपी हो चुकी थी इसलिए फिर मैं आसानी से उस लड़की को चोद पा रहा था | उस लड़की के मा भी उस दिन उस घर पर थी लेकिन उसको मालूम नही चला इसलिए मैंने उस लड़की से कहा की मैं उसे कभी फुर्सत के समय पर चोद सकता हूँ |

error:

Online porn video at mobile phone